price of time vbc

प्रेरक प्रसंग – समय की क़ीमत

यह घटना उस समय की है जब स्वतंत्रता आंदोलन ज़ोर पकड़ चुका था । गांधी जी घूमकर या सभा बुलाकर लोगों को स्वराज और अहिंसा का संदेश देते थे । […]

somu anand vicharbindu

अंग्रेज़ी का विरोध नहीं बल्कि इसके मुक़ाबले हिंदी की बड़ी लक़ीर खींचनी होगी

 ‘क्या महत्वपूर्ण बातें सिर्फ इंग्लिश में होती हैं ?’ दरअसल, यह सवाल सिर्फ़ इंग्लिश-विंग्लिश की श्रीदेवी का ही नहीं बल्कि मेरा और मेरे जैसे करोड़ों भारतीय का है । आज […]

Hindi vbc

हिंदी के विकास से ही राष्ट्र का सामरिक विकास संभव है

किसी भी देश के विकसित होने में भाषा का बड़ा योगदान होता है । हर देश की एक आधिकारिक भाषा होती है, जिसे राष्ट्रभाषा कहते है । देश में सामान्यतः […]

hindi diwash vicharbindu

हिंदी-दिवस 14 सितंबर

विभिन्न भाषाओं को समेटे हुए है हमारा भारतवर्ष ।  जहाँ कई राज्य, कई शहर और कई गाँवों की भी अपनी-अपनी भाषाएँ हैं । हम जो भाषा जन्म के साथ ,जन्मभूमि […]

poet nagarjuna

यहीं धुआँ मैं ढूँढ़ रहा था, यही आग मैं खोज रहा था

बाबा नागार्जुन हिन्दी और मैथिली के अप्रतिम लेखक और कवि थे । उनका असली नाम वैद्यनाथ मिश्र था परंतु हिन्दी साहित्य में उन्होंने नागार्जुन तथा मैथिली में यात्री उपनाम से […]

musafir-cafe book image vbc

‘मुसाफिर कैफ़े’ – दिव्य प्रकाश दुबे

‘मुसाफिर कैफ़े’ दिव्य प्रकाश दुबे भाई कि तीसरी किताब है | यह एक छोटी सी उपन्यास है जिसे आप बड़े मजे स्टेशन के बुक स्टॉल से खरीदकर 2-३ घंटे में […]

shardindu chaudhary

और राजनीति मुस्कुराने लगती है…

हैंडसम वेतन, असीमित भत्ता और मात्र पांच वर्ष की सेवा के एवज में जीवन भर पेंशन । सेवा अवधि में असत्य वचन, झूठे वादे और जनता को भरमाने की खुली […]

arunabh.saurabh

चीख़ में तब्दील किलकारी के नेपथ्य का दर्द

मोटी रकम वसूलने वाले पब्लिक स्कूल क्या हमारे बच्चों की जान सुरक्षित रखने के प्रति संवेदनशील है? कुकुरमुत्ते की तरह हर शहर-कस्बे में उग आए पब्लिक स्कूल हमारे बच्चे को […]