Skip to main content

तराना-ए-हिन्द के शायर मोहम्मद इक़बाल

muhammad iqbal प्रिय पाठकों प्रस्तुत है, आधुनिक उर्दू और फारसी साहित्य को एक नया मुकाम, एक नई जिन्दगी, एक नई रोशनी देने वाला कवी और ‘तराना-ए-हिन्द’ का शायर,  मोहम्मद  इक़बाल , इन्होंने कहा, “कुछ बात है की हस्ती मिटती नहीं हमारी”   (more…)

Read More

मशहुर शायरियाँ और शायर

rose vicharbindu.comप्रिय पाठकों प्रस्तुत है, दुनियां के मशहुर शायरों की प्रेरणात्मक शायरियाँ …जिनमें मिर्ज़ा ग़ालिब, मोहम्मद इक़बाल, अकबर इलाहाबादी, मुनव्वर राणा, बशीर बद्र, अहमद फ़राज, जौहर, अख्तर अंसारी, बहज़ाद लखनवी, फ़िराक, गुलज़ार…इत्यादि शायरों की शायरियाँ…. (more…)

Read More

शायर-ए-आज़म मिर्ज़ा ग़ालिब

mirza ghalib शायर-ए-आज़म मिर्ज़ा ग़ालिब का जन्म 27 दिसंबर 1776 को आगरा में हुआ था । इनका पूरा नाम मिर्ज़ा असद-उल्लाह बेग ख़ां उर्फ “ग़ालिब” था । ये उर्दू एवं फारसी भाषा के महान शायर थे, ग़ालिब मुग़ल काल के आख़िरी शासक बहादुर शाह ज़फ़र के दरबारी कवि भी रहे थे । 1850 में बहादुर शाह जफ़र ने इनको… (more…)

Read More