Kshitiz Roy vicharbindu

मेरे पापा न्यूटन नहीं थे

96-97-98 का कोई लोक सभा/ विधान सभा चुनाव रहा होगा। राज्य के तमाम शिक्षकों की तरह ही पापा चुनाव कार्य में presiding अधिकारी पाये गए थे। कुछ और याद नहीं […]

musafir-cafe book image vbc

‘मुसाफिर कैफ़े’ – दिव्य प्रकाश दुबे

‘मुसाफिर कैफ़े’ दिव्य प्रकाश दुबे भाई कि तीसरी किताब है | यह एक छोटी सी उपन्यास है जिसे आप बड़े मजे स्टेशन के बुक स्टॉल से खरीदकर 2-३ घंटे में […]

mohammad-rafi

शहंशाह-ए-तरन्नुम – मोहम्मद रफ़ी

शहंशाह-ए-तरन्नुम – मोहम्मद रफ़ी हिंदी सिनेमा के श्रेष्ठतम पार्श्व गायकों में से एक थे। आईये इनके पुण्यतिथि पर  पढ़ते एवं सुनते हैं इनके प्रिसिद्ध संगीत 

Maithil Kavi Kokil VIDYAPATI

बाबा विद्यापति और इनकी एक रचना- जय जय भैरवी ।

एक रचनाकार अपने जीवन काल मे अनगिनत रचना करता है । जिसमे से मात्र कुछ ही रचना लोकप्रिय हो पाती है और साथ ही रचनाकार को प्रसिद्धि दिला पाती है […]

books recommended by sandeep maheswari

कुछ पुस्तकें जो बदल दे आपकी जिन्दगी।

संदीप महेश्वरी एक सफल Entrepreneur जो किसी परिचय के मोहताज नहीं उनके द्वारा suggest किया गया 26 पुस्तक जिसे आवश्य ही पढ़ना चाहिए । आइए पढ़ें क्या कहते हैं इन […]

क्रांति कोई डिनर पार्टी नहीं है ।

मुझे इस दुनिया में हो रहे कई चीज गलत लग जाती है । समकालीन मुद्दे पे तपाक से राय नहीं बना पता । मैं एकतरफा नहीं हो पता किसी भी […]

balirajgadh_vbc4

इतिहास के गर्भ में मिथिला !

पुरातात्विक अवशेषों का अन्वेषण, विश्लेषण में पूरा पाषाण काल, मध्यकाल अथवा नव पाषाण काल के कई अवशेष जो अभी तक प्रकाश में नहीं आये हैं उनमें से एक है बलिराजगढ़ […]

Development of Vidyapati Festival and Mithila in hindi

विद्यापति समारोह और मिथिला का विकास ।

बात विद्यापति समारोह के विरोध का नहीं है । बात है कि जिन लोगों को इस समाज ने आगे बढ़ाया, समाज के बल पर उन्होंने पूरे देश में नाम कमाया, पैसे […]

Vidyapati-Samaroh

विद्यापति समारोह पर प्रश्न क्यों ?

हम प्रश्न उठाएंगे विद्यापति समारोह पर ! जब पुरे मिथिला क्षेत्र में करोड़ों लोग रोटी से वंचित हैं, अच्छी स्वास्थ्य सुविधा से वंचित हैं, अच्छी शिक्षा से वंचित हैं, अच्छे […]

vidyapati

महाकवि विद्यापति ठाकुर ।

मैथली कवि कोकिल विद्यापति ठाकुर का जन्म 1360 ई० में बिहार के मधुबनी जिला के बिसपी ग्राम में हुआ । श्रृंगार और भक्ति रस के कविता के बीच संतुलन स्थापित करने […]