अगर आप पढ़ने के शौकीन हैं तो आते जाते रास्ते में टाइमपास के लिए कभी कोई पत्रिका या नॉवेल जरूर पढ़ा होगा, मैंने भी बहुत बार ऐसा साहित्य पढ़ा है।