Skip to main content

मैं अपने घर का बादशाह हूं !

premchand image vicharbindu

उपन्यास सम्राट प्रेमचंद अत्यंत स्वाभिमानी प्रकृति के व्यक्ति थे । उन्होंने तत्कालीन ब्रिटिश सरकार द्वारा प्रस्तावित राय साहब की उपाधि लेने से इनकार कर दिया था, और कहा था । “मैं जनता का लेखक हूं, और जनता के लिए ही लिखते रहना चाहता हूं । रायसाहब बनने के बाद मुझे सरकार के लिए लिखना पड़ेगा । जो मुझे कतई स्वीकार नहीं है । “

(more…)

Read More

पूर्ण सत्य जाने बिना प्रतिक्रिया न दें !

full truth vbcएक यूवक सीढियों से गिर कर घायल हो गया । उसके पिता तत्काल उसे लेकर अस्पताल गए । वहाँ आवश्यक जाँच के बाद पता चला की यूवक के शरीर में तिन जगह गंभीर फ्रेक्चर है । ऑपरेशन की आवश्यकता देखते हुए सीनियर डॉ को बुलाया गया । आगे …. (more…)

Read More

ह्रदय परिवर्तन – प्रेरणात्मक कथा ।

angulimalaप्राचीनकाल की बात है । मगध सम्राज्य में सोनपुर नाम के गाँव की जनता में आतंक छाया हुआ था । अँधेरा होते ही लोग घरों से बाहर निकलने की हिम्मत नहीं जूटा पाते थे, कारण था अंगुलिमाल । अंगुलिमाल एक खूंखार डाकू था जो वहाँ के जंगल में रहता था । जो भी राहगीर.. (more…)

Read More

पद चिन्ह…बुद्ध !

Buddhaएक बार भगवान बुद्ध अपने शिष्यों के साथ भ्रमण पर जा रहे थे । रास्ते में कहीं भी पेड़ नहीं थे । चारों तरफ सिर्फ रेत ही रेत थी । रेत पर चलने के कारण सभी के पैरों के निशान बनते जा रहे थे । (more…)

Read More

अपना ध्यान अपने कर्म पर केंद्रित करें |

अपना ध्यान अपने कर्म पर केंद्रित करें किसी जंगल मे एक गर्भवती हिरणी थी, जिसका प्रसव होने को ही था । उसने एक तेज धार वाली नदी के किनारे घनी झाड़ियों और घास के पास एक जगह देखी जो उसे प्रसव हेतु सुरक्षित स्थान लगा । (more…)

Read More

एक चुटकी ज़हर रोजाना

dust VBCआरती नामक एक युवती का विवाह हुआ और वह अपने पति और सास के साथ अपने ससुराल में रहने लगी । कुछ ही दिनों बाद आरती को आभास होने लगा कि उसकी सास के साथ पटरी नहीं बैठ रही है । सास पुराने ख़यालों की थी और बहू नए विचारों वाली । (more…)

Read More

बेईमानी का फल

Fox and Monkeyएक दिन , एक लोमड़ी और एक बंदर ने पहाड़ी पर एक बड़े-बड़े आड़ू को गिरे हुए देखा । एक बड़ा सा ताजा आड़ू ! यह कितना स्वादिस्ट होगा यह सोच कर लोमड़ी और बन्दर के मुंह में पानी भर आया । (more…)

Read More