आज तक उनकी वर्दी धोयी नहीं ! जब बहुत याद आते हैं, तो पहन लेती हूं

the-real-hero-indian-army (1)

“2009 में उसने मुझे प्रपोज़ किया था. 2011 में हमारी शादी हुई, मैं पुणे आ गयी. दो साल बाद नैना का जन्म हुआ. उसे लम्बे समय तक काम के सिलसिले में बाहर रहना पड़ता था. हमारी बच्ची छोटी थी, इसलिए हमारे परिवारों ने कहा कि मैं बेंगलुरु आ जाऊं. मैंने फिर भी वहीं रहना चुना जहां अक्षय था. मैं हमारी उस छोटी सी दुनिया से दूर नहीं जाना चाहती थी, जो हमने मिल कर बनायी थी. Continue reading “आज तक उनकी वर्दी धोयी नहीं ! जब बहुत याद आते हैं, तो पहन लेती हूं”

एक प्रेरक प्रसंग- “समय की क़ीमत”

gandhi ji vicharbindu

यह घटना उस समय की है जब स्वतंत्रता आंदोलन ज़ोर पकड़ चुका था । गांधी जी घूमकर या सभा बुलाकर लोगों को स्वराज और अहिंसा का संदेश देते थे । एक बार उन्हें एक सभा मे उपस्थित होने का आमंत्रण मिला । Continue reading “एक प्रेरक प्रसंग- “समय की क़ीमत””

एक चिड़िया, जो बनी पूरी ज़िन्दगी की प्रेरणा

life-changing-story-in-hindi

यह प्रसंग अमेरिका के एक छोटे से बच्चे की है, जिसका नाम डिफोस्ट था । जो विषम परिस्थिति में भी अपने सपने को साकार किया एक छोटी सी चिड़ियाँ से प्रेरणा ले कर……. Continue reading “एक चिड़िया, जो बनी पूरी ज़िन्दगी की प्रेरणा”

कुछ प्रेरक प्रसंग जो करेंगे आपका मार्गदर्शन

vicharbinduकभी-कभी हम अत्यधिक ही विचलित हो जाते हैं । छोटी-छोटी बातें हमें दिग्भ्रमित कर देती है और हम बेवजह परेशान हो जाते है । ऐसे में कुछ प्रसंग हमें यथार्थ का बोध कराते  हैं, और हमारा पथ प्रदर्शित करते हैं । आइए पढ़ें….. Continue reading “कुछ प्रेरक प्रसंग जो करेंगे आपका मार्गदर्शन”

मेरा गुरु कौन ?

aristotal VBCप्रिय पाठकों प्रस्तुत है, महान दार्शनिक अरस्तु महोदय से संबंधित एक प्रेरक प्रसंग मेरा गुरु कौन ? मुर्ख या विद्वान ।
एक बार एक विद्वान यूनान के दार्शनिक अरस्तु से मिलने गये । Continue reading “मेरा गुरु कौन ?”