Skip to main content

ह्रदय परिवर्तन – प्रेरणात्मक कथा ।

angulimalaप्राचीनकाल की बात है । मगध सम्राज्य में सोनपुर नाम के गाँव की जनता में आतंक छाया हुआ था । अँधेरा होते ही लोग घरों से बाहर निकलने की हिम्मत नहीं जूटा पाते थे, कारण था अंगुलिमाल । अंगुलिमाल एक खूंखार डाकू था जो वहाँ के जंगल में रहता था । जो भी राहगीर.. (more…)

Read More

पद चिन्ह…बुद्ध !

Buddhaएक बार भगवान बुद्ध अपने शिष्यों के साथ भ्रमण पर जा रहे थे । रास्ते में कहीं भी पेड़ नहीं थे । चारों तरफ सिर्फ रेत ही रेत थी । रेत पर चलने के कारण सभी के पैरों के निशान बनते जा रहे थे । (more…)

Read More

सुख शांति के मंत्र – गौतम बुद्ध

Sukhप्रिय पाठकों प्रस्तुत है भगवान् बुद्ध के प्रेरणात्मक विचार । “दुःख के कारण तुम हो, तुम्हारे सुख के कारण तुम हो और दूसरों को दुःख देने से तुम कभी सुख न पा सकोगे । दूसरों को सताने से तुम कभी उत्सव न मना सकोगे ।” (more…)

Read More

दुःख से विमुक्ति के अष्टांगिक मार्ग – BUDDHA

lord-buddhaBuddha ने दुःख से मुक्ति के लिए आठ रस्ते बताये थे, ताकि हमारा जीवन शांतिपूर्ण और आनंदित हो सके । Buddha के मार्ग पर चलने के लिए नित जीवन में हमें आठ बातों को वरण करना होगा… (more…)

Read More