बिहार में बाढ़ का कहर- मुद्दा, स्वरुप और समाधान

रात को पानी की आवाज़ बहुत भयानक होती है, दूर कहीं चर-चाँचर में पानी गिरने की आवाज़, कुत्ते-बिल्लियों के क्रंदन और खूटें पर बंधे मवेशी की छटपटाहट बहुत डरावनी होती है | बाढ़ का स्वरुप विकराल होता है | पानी का स्तर धीरे-धीरे बढ़ते रहता है, खेत से अहाते तक पहुँचने में घंटे भर भी … Continue reading बिहार में बाढ़ का कहर- मुद्दा, स्वरुप और समाधान