Skip to main content

युवा शक्ति के प्रणेता स्वामी विवेकानंद

swami vivekanandaएक ऐसे व्यक्तित्व जो भारत के लिए ही नहीं, अपितु सम्पूर्ण विश्व के लिए एक अनुकरणीय आदर्श हैं । विचारों के ओवरडोज़ में प्रस्तुत है युवा शक्ति के प्रणेता स्वामी विवेकानंद जी के प्रेरणात्मक विचार ।

(more…)

Read More

हॉट केक बन रहा है मिथिला आन्दोलन

praveen jhaजय मिथिला-जय मैथिली के युग्म से पैदा हुआ एक आंदोलन आजकल हॉट केक बना हुआ है। दरभंगा से दिल्ली तक हर वीकेंड पर इसकी पारम्परिक आहट आप महसूस कर सकते हैं। इसकी डिटेल रिपोर्टिंग और रणनीति फेसबुक पर 24/7 देख सकते हैं । कुछ बहुत सक्रीय संगठनों का दावा है कि बस अब क्रान्ति का फाइनल स्टेज लॉन्च होने ही वाला है । (more…)

Read More

क्या है मन की एकाग्रता ?

एकाग्रता

एक सफल व्यक्ति और एक असफल व्यक्ति की पहचान उसके मन की एकाग्रता से होती है, सफल व्यक्ति अपना काम बुधिमत्ता और एकाग्रचित हो कर करते हैं । अर्थात पूरी तलीनता से करते हैं । जबकि असफल व्यक्ति काम को बोझ समझ कर करते है, एकाग्रमन होकर नहीं । (more…)

Read More

साहस से सफलता तक !

courageमानव जाति के इतिहास में जो अंश पठनीय है, वे साहस की ही कहानियों से भरे पड़े हैं । अनेकों वीरों ने असंभव को संभव कर दिखाया था आम आदमी जिन मुसीबतों का सामना करने से डरते थे, उन वीरों ने उनका सामना किया और विजय प्राप्त की । संसार ने उन्हें आदर्श माना । जैसे…. (more…)

Read More

जानिए हम कितने सहिष्णु हैं ?

satyam kumar jhaहम सब पूरे खलिहर हैं । एक बार और ये बात साबित कर दिये । पता नहीं क्यों हम एक सड़क छाप मुद्दे को राष्ट्रीय विपत्ति बनाने पर तूल जाते हैं । फेसबूक पे दो खेमा है… (more…)

Read More

देश का ये चुप्पी वाला एटीट्यूड घातक है भाई !

Indo-Pak-Relationलगभग पच्चीस साल पहले किसी पत्रिका में पढ़ा था, एक बहुत ही शक्तिशाली, बाहुबली योद्धा था । उसके पड़ोस में एक दुबला-पतला, फुर्तीला आदमी रहता था । दोनों के बीच…. (more…)

Read More

गाँव से इतना इरिटेसन क्यों ?

sagar jhaजहाँ आज की युवा पीढ़ी गाँव को हेट करने लगी हैं वहीं कुछ युवा गाँव से जुड़ी बातें, यादें एवं सपनो को कलम से सजा कर पेश करते रहते हैं तो आईये पढ़ते है सागर झा के कलम से निकला यह आलेख “गाँव से इतना इरिटेसन क्यों ?” (more…)

Read More