डॉ लक्ष्मण झा : आधुनिक विदेह

Dr. Laxman Jha

डॉ लक्ष्मण झा का जन्म दरभंगा जिला के रसियारी गाँव मे हुआ था। शुरुआती पढाई प्रसिद्ध विद्वान पंडित रमानाथ झा के सानिध्य में हुआ। बचपन से ही भौतिक और सांसारिक चीजों से प्राकृतिक दूरी सी हो गई थी। घर वाले बचपन मे ही बियाह करवाना चाहते थे लेकिन वो सीधे मना कर देते, बारंबार विवाह प्रस्ताव से पड़ेशान होकर एक बार घरवालों को डराने के लिए वो हाथी से कूद गए। कहीं सन्यास लेकर घर न छोड़ दे घर वालों ने इस डर से शादी के लिए कहना छोड़ दिया Continue reading “डॉ लक्ष्मण झा : आधुनिक विदेह”

जब बिजली गिरे ! तो क्या करें ?

lightning fell

मित्रों ! राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण भारत सरकार द्वारा जारी किया गया सूचना जो जनहित में है । हम सभी इसे ध्यानपूर्वक पढ़े और अधिक से अधिक लोगों तक पहुँचायें ।  http://atlantatraininggroup.com/curriculum-design-training-development जब बिजली गिरे ! तो क्या करें ? Continue reading “जब बिजली गिरे ! तो क्या करें ?”

हो जाएं सचेत ! लगातार बढ़ रहा है ‘जुवेनाइल क्राइम’

juvenile crime 2

वैसे तो हिंसा हमारी प्रवृति में शामिल हो गयी है और ये एक वैश्विक समस्या के रूप में उभर रहा है । चाहे रेयन इंटरनेशनल स्कूल में 16 वर्ष के बच्चे की हत्या हो या हरियाणा में 18 वर्ष के बच्चे द्वारा स्कूल प्रिंसिपल की हत्या या फिर सहरसा में लगातार हो रही हिंसा, युवाओं की संलिप्तता लगातार बढ़ रही है। ये हमारे समाज के लिए एक अलार्मिंग सिचुएशन है और इसपर समय रहते काबू पाना होगा। यहाँ बिंदुवार कुछ कारणों को मैं इंगित करना चाहूँगा  Continue reading “हो जाएं सचेत ! लगातार बढ़ रहा है ‘जुवेनाइल क्राइम’”

योग जैसे विज्ञान को राजनीति से मुक्त रखा जाना चाहिए

yoga pose

योग भारतीय संस्कृति के महानतम अवदानों में एक है । योग कोई शारीरिक कसरत अथवा सिक्स पैक बनाने का साधन नहीं है । यह न कोई धर्म है, न धार्मिक कर्मकांड का हिस्सा । अपने मूल स्वरुप में यह आत्मा का विज्ञान है । Continue reading “योग जैसे विज्ञान को राजनीति से मुक्त रखा जाना चाहिए”

सोशल मीडिया का बढ़ता दबाव और ख़ुद को भुलाते हम !

image of Praveen Kumar jha

“यूँ तो हमारे ऊपर सोशल मीडिया का दबाव इस क़दर तक बढ़ चला है कि हम ख़ुद का हीं स्वाभाविक चाल चरित भूल गए हैं, किंतु हालात सोचनीय इस बात को लेकर है की इस होड़ में कई बार हम ख़ुद तक को धोखा देने लगते हैं” Continue reading “सोशल मीडिया का बढ़ता दबाव और ख़ुद को भुलाते हम !”

विभाजन काल का मुक़म्मल दस्तावेज है – “पाकिस्तान मेल”

pakistan-mail-book-review

मैंने बहुत ज्यादा किताबें पढ़ी भी नहीं है और जो पढ़ी हैं उनमें 4-5 किताबों ने मुझे खासा प्रभावित किया है । उन्हीं 4-5 में से एक है – पाकिस्तान मेल । लेखक, पत्रकार खुशवंत सिंह की ‘ट्रेन टू पाकिस्तान’ का सुप्रसिद्ध लेखिका उषा महाजन ने बेहतरीन हिंदी अनुवाद किया है । Continue reading “विभाजन काल का मुक़म्मल दस्तावेज है – “पाकिस्तान मेल””

राजकमल चौधरी न मंटो थे, न गिंसबर्ग और न ही मुक्तिबोध

image of Rajkamal choudhary

आज हिंदी और मैथिली के कवि-कथाकार राजकमल चौधरी की पुण्यतिथि है. 51वीं. जिंदा होते तो 90 की उम्र में पहुंचने वाले होते. यह अंदाजा लगाना मुश्किल है कि उनका बुढ़ापा कैसा होता. बहरहाल वैसा नहीं होता, जैसा पिछले एक हफ्ते से दिख रहा है. फेसबुक पर इन दिनों राजकमल चौधरी फिर से जिंदा हो गये हैं. बहसों में, तुलनाओं में, उपेक्षाओं के पक्ष और विपक्ष के साथ और इस स्टेटमेंट के साथ कि हिंदी में राजकमल को वह नहीं मिला जिसके वे अधिकारी थे. Continue reading “राजकमल चौधरी न मंटो थे, न गिंसबर्ग और न ही मुक्तिबोध”

वो ऊँगलियों का नहीं रूह का जादू होगा !

Ustad Ali Akbar Khan

भारतीय शास्त्रीय संगीत के पुरोधा और देश के महानतम सरोद-वादक उस्ताद अली अकबर खां को सरोद को विश्वव्यापी मान्यता और लोकप्रियता दिलाने का श्रेय जाता है। वे प्रसिद्द मैहर घराने के संस्थापक उस्ताद अल्लाउदीन खां के पुत्र, संगीतज्ञ अन्नपूर्णा देवी के भाई और विश्वप्रसिद्ध सितार वादक पंडित रविशंकर के साले थे। Continue reading “वो ऊँगलियों का नहीं रूह का जादू होगा !”

मैं, मेरा गाँव और आम का गाछी

mango tree in village

मेरे गाछी का बम्बई आम बोना गया है गजपक्कू मुझे बहुत पसंद है इसलिए मेरे बार-बार व्यस्तता बताने के बावजूद माँ का आदेश था की कल सुबह आम टूटने से पहले गाँव पहुँचो ! उम्र के लिहाज से युवा अवस्था मे प्रवेश कर चुका हूँ लेकिन दिल से बच्चा रजनीश को क्या और कौन पसन्द है माँ से बेहतर कौन समझेगा भला । Continue reading “मैं, मेरा गाँव और आम का गाछी”

माटी को निर्जलीकरण हो गया है

dry soil copy

अभी जहानाबाद गया था, जल विहीन है पूरा क्षेत्र | गर्द का गुबार उठता है हल्की सी हवा चलने भर से | परती खेत धूप में जल रहा है | ये स्थिति नवादा, जमुई जैसे कई अन्य क्षेत्रो में भी हो रहा है | Continue reading “माटी को निर्जलीकरण हो गया है”