तीन मंत्री

प्रिय पाठकों प्रस्तुत है एक प्रेरणात्मक कहानी तीन मंत्री ।  एक  दिन एक राजा ने अपने 3 मन्त्रियो को दरबार में  बुलाया, और  तीनो  को  आदेश  दिया  के  एक  एक  थैला  ले  कर  बगीचे  में  जाएं ..,और वहां  से  अच्छे  अच्छे  फल  (fruits ) जमा  करें ।

दहेज

प्रिय पाठकों प्रस्तुत है, एक प्रेरणात्मक प्रसंग जो हर लडकी के लिए प्रेरक कहानी… और लड़कों के लिए अनुकरणीय शिक्षा…है, कोई भी लड़की की सुदंरता उसके चेहरे से ज्यादा दिल की होती है….अशोक भाई ने घर मेँ पैर रखा….‘अरी सुनती हो !’

एक प्रेरणात्मक सूफ़ी कहानी……

प्रिय पाठकों प्रस्तुत है, एक प्रेरणात्मक सूफी कहानी । एक फकीर एक वृक्ष के नीचे ध्यान करते थे । वो रोज एक लकड़हारे को लकड़ी काट कर ले जाते देखते थे । एक दिन उन्होंने लकड़हारे से कहा कि सुन भाई, दिन-भर लकड़ी काटता है, दो जून रोटी भी नहीं जुट पाती । तू जरा

जीन पीगे Jean Piaget

प्रिय पाठकों प्रस्तुत है,  जीन पीगे / Jean Piaget महोदय के प्रेरणात्मक विचारों का संग्रह । जीन पीगे महोदय एक महान दार्शनिक और मनोवेज्ञानिक थे । इनका जन्म स्विट्जरलैंड में हुआ था । बच्चों के विकास के विषय पर इन्होंने गहन और विश्लेश्नात्मक अधयन किया एवं कई पुस्तक भी लिखे ।  इनका जन्म : 9 अगस्त 1896 को एवं अवसान

आत्मविश्वास से बड़ा दूसरा कोई मित्र नहीं

प्रिय मित्रों प्रस्तुत है, यह लेख जो आपको आपके वास्तविक ताकत से परिचय करवाएगा आपके सच्चे मित्र से आपका परिचय करवाएगा । जो आपके अंदर स्वत: विकसित होता है । तो आईये start करते हैं …..बहूत सारे लोगों के मन में यह प्रश्न उठता है की आत्मविश्वास क्या है ?

आपका नज़रिया ही आपकी जय / पराजय निश्चित करता है ।

प्रिय पाठकों प्रस्तुत है, एक प्रेरक प्रसंग । इस प्रसंग के माध्यम से यह बताने का प्रयास किया गया है । की विषम परिस्थितिओं में हमें किस प्रकार से सोचना चाहिए, हमारी नज़रिया कैसी होनी चाहिए, की हम उस परिस्थिति से मुक़ाबला कर सकें ।

नेल्सन मंडेला / Nelson Mandela

संपूर्ण विश्व में रंगभेद निति के विरोध के प्रतीक नेलशन मंडेला महोदय का संछिप्त जीवन परिचय एवं प्रेरणात्मक विचारों का संग्रह । इन्हें नोबेल शांति पुरस्कार / भारत रत्न / गाँधी शांति इत्यादि पुरस्कारों से नवाजा गया है ।

बाबाक संस्कार

श्री हरिमोहन झा की रचना जो मैथली में है । (बाबाक संस्कार) मैथली साहित्य की अत्यंत प्रचलित रचना है । जिसमें समाज का वास्तविक स्वरूप को प्रतिबिम्बित कर व्यंग किया गया है । पढिये इस कथा का हिंदी अनुवाद !

महाकवि विद्यापति ठाकुर ।

मैथली कवि कोकिल विद्यापति ठाकुर का जन्म 1360 ई० में बिहार के मधुबनी जिला के बिसपी ग्राम में हुआ । श्रृंगार और भक्ति रस के कविता के बीच संतुलन स्थापित करने वाले विद्यापति एक महान रचनाकार थे । इन्हें अनेक उपाधि प्राप्त है । जैसे –

चरित्रहीन कौन …?

प्रिय पाठकों प्रस्तुत है, गौतम बुद्ध से संबंधित एक प्रेरणात्मक कथा । जिसके माध्यम से पुरुष प्रधान समाज के ऊपर कटाक्ष किया गया है ।  मुझे विश्वास है की यह कथा आपको एक बार जरूर सामाजिक समस्याओं पर विचार करने को मजबूर करेगा । आगे ….
error: Content is protected !!