निर्मल होकर मुस्कुराएं


happy movement

मित्रों, मुस्कान में उपचार की शक्ति होती है । यह आपका और आपके साथी का उपचार कर सकती है । जब आप इस तरह निर्मल होकर मुस्कुराएंगे , तो आपके सामने बैठा व्यक्ति भी मुस्कुराएगा  ………………यह हो सकता है ,की आपके आने से पहले नहीं मुस्कुरा रहा हो, लकिन अगर आप मुस्कुराते हुए अभिवादन करेंगे तो आप, अपने सामने बैठे व्यक्ति को 100 प्रतिशत शुद्ध मुस्कुराहट उत्पन्न करने की उर्जा देंगे ।

फलस्वरूप उसके भीतर उपचार की शक्ति स्वतः काम करने लगेगी । इस प्रक्रिया में आप उसके बदलाव और स्वस्थ निर्माण में मह्वत्पूर्ण भूमिका निभाते हैं । और अपने आस-पास बैठें व्यक्ति की उपस्थिति का आनंद उठाने के लिए शांति मह्वात्पूर्ण है ।

इस तरह की शांति सजीव, शक्तिशाली, पोषक और रुपान्तरण में सक्षम होती है । यह दमनकरी, कस्टदायक , या उदासी का पर्याय नही होती । कियोंकि यह बहूत शक्तिशाली होती है । हम मिलकर इस तरह की प्रभावशाली शांति उत्पन्न कर सकते है । मुस्कुराते हुए………………

laugh vbc

अगर आप चाहते हैं की हमेशा ख़ुश रहें , तो इन कार्यो को करना बंद कर दीजिये …….

  • ख़ुद के साथ झूठ बोलना छोड़ दीजिये, खुद के साथ झूठ बोलकर क्या मिलेगा । हमारा जीवन तभी खुशहाल बन सकता है जब हम एक कदम आगे बढ़ाते है,और झूठ नहीं बोलते हैं ।

  • परिवार, दोस्तों और काम के चक्कर में हम खुद की जरूरत को ही पीछे कर देते हैं । यह गलत है । आज से ही अपनी जरूरतों को अहमियत देना शुरू कर दें । पहले खुद की जरूरत बाद में दूसरों की ।

  • आप जैसे हैं, वैसे ही बहूत अच्छे हैं । भगवान ने आपको सोच समझ कर ही बनाया है, इसीलिए किसी दुसरे की तरह बनने की कोशिश न करें । जैसे हैं वैसे ही रहिये और खुद को बेहतर बनाते जाएँ ।

 इल० व्हीलर विलकाक्स कहते हैं   –  “तुम हंसोगे , तो संसार हंसेगा , किन्तु रोते समय तुम्हें अकेला ही रोना पड़ेगा ; क्योंकि यह संसार केवल हास्य का इच्छुक है , रुदन तो इसके पास स्वयं अपना ही पर्याप्त है ।”


ख़ुशी तो संजीवनी है । जीवन में अक्सर हम बड़ी खुशियाँ पाने की चाहत में छोटी-छोटी खुशियाँ भी खो बैठते हैं , लेकिन अपनी सोच को थोड़ा बदलकर और कुछ उपायों को अपनाकर हम हमेशा खुश रह सकते हैं । आइए जाने खुश रहने के तरीके ।

  • जब मौक़ा मिले, हमेशा हंसे, इससे सस्ती कोई दवा नहीं है ।

  • खुश रहने के लिए हमें हर पल अच्छा सोचना चाहिए ।

  • जीवन में उतार-चढ़ाव आते रहते हैं, इनसे प्रभावित हुए बिना मुस्कुराते रहें ।

  • आप जैसे हैं अपने आपको उसी रूप में स्वीकारें ।

  • दूसरों के लिए अच्छा करें, क्योंकि छोटी-छोटी चीजें आपको ख़ुशी दे सकती हैं ।

  • वर्तमान के बारे में सोचें । भविष्य की चिंता में आज मिलने वाली खुशियों को न खोएं ।

  • खुश होने का मतलब यह नहीं की सब कुछ उत्तम है । इसका मतलब है कि आपने कमियों के परे देखना शुरू कर दिया ।

  • ख़ुशी केवल उन्हीं लोगो को प्राप्त होती है, जो दूसरों को खुश करने में प्रयासरत रहते हैं ।

धन्यवाद् ….! अपनी प्रतिक्रिया comment box में हमें आवश्य लिखें ।

Previous बेहद लाभकारी है तुलसी
Next सादगी के प्रतिमूर्ति थे आइन्स्टीन

1 Comment

  1. Deepak Gupta
    July 27, 2016
    Reply

    Nai soch ki ek achhi muskan

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *