हमारा ध्यान कहाँ किन बातों पर होना चाहिए

जीवन जीने के प्रयोजन में हम अपने विचारों को किस दिशा में ले जाएँ , हमारा ध्यान कहाँ किन बातों पर होना चाहिए जिससे हम अपने जीवन में समृद्धि की ऊंचाई को छु सकें !

where-should-your-attention-be

“उस पर ध्यान न दें जो आप नहीं चाहते, बल्कि उस पर ध्यान दें जो आप चाहते हैं ।” अत: यह कभी न कहें  – ‘मुझे गरीबी नहीं चाहिए ।’ इस गलत वाक्य के बजाय यह कहना शुरू करें  – ‘मुझे समृद्धि चाहिए ।’   इसी तरह ‘मुझे उलझन नहीं चाहिए । ‘कहने के बजाय कहें, ‘मुझे सुलझन का आनंद चाहिए ।’

मनुष्य जाने- अनजाने में या आदतन कई बार ऐसी नकारात्मक पंक्तियाँ दोहराता रहता है –  ‘मुझे बीमारी नहीं चहिये…., अनचाहे मेहमान नही चाहिए……, मेरा एक्सीडेंट न हो ……, मुझे भ्रष्टाचार न दिखें ……, इत्यादि ।

मगर अब क्या नही चाहिए…. के स्थान पर कुदरत को बताएँ – ‘मुझे क्या चाहिए ..? ऐसा करने से अनजाने में आप अपने जीवन में जो भी गलत चीजें ल रहें हैं, वे चीजें आना बंद हो जाएँगी ।

आपने अपने आस-पास कुछ लोग देखें होंगें , जो डरे-डरे से सिकुड़कर जिवन जीते हैं । ऐसे लोग नकारात्मक शब्द बोल-बोल कर अपने जीवन में समस्याओं को आकर्षित करते हैं । जैसे  – कहीं मेरे बच्चे के साथ कुछ गलत न हो जाए ……. कहीं मेरा एक्सीडेंट न हो जाए ….. कहीं मुझे फलां बीमारी न हो जाए ….. कहीं में फैल न हो जाऊ ….. आदि । फिर कुछ समय बाद उनके जीवन में ऐसी घटनाएँ होने लगे तो इसमें आश्चर्य करने वाली कोई बात नहीं है ।


sildenafil priligy cheap निवेदन : आपको यह प्रस्तुती अच्छी लगी हो तो कृपया शेयर आवश्य करें ! जय हिन्द

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *