Lyengar योग के गुरु B.K.S Lyengar


yoga-legend-bks-iyengar-passes-away

Lyengarमित्रों  Lyengar योग के गुरु   B.K.S Lyengar  (वेल्लूर कृष्णमचारी सुन्दराज अयंगार)  का जन्म कर्नाटक के वेल्लूर में 14 दिसम्बर 1918 को हुआ । अयंगार भारतवर्ष के एक महान योग गुरु थे जिन्होंने अयंगार योग की स्थापना की थी । 1975 में इन्होंने महाराष्ट्र में योगविद्या नाम से अपना संस्थान शुरू किया । और………इन्होंने अपने संस्थान का भारत में ही नहीं अपितु विश्व के विभिन्न राष्ट्रों में शाखाओं को स्थापित किया । 2002 में भारत सरकार ने इन्हें साहित्य एवं शिक्षा के क्षेत्र में पद्मभूषण से सम्मानित किया एवं 2014 में पद्मविभूषण से सम्मानित किया । 2004 में B.K.S Lyengar को दुनिया के सुबसे प्रभावशाली 100 लोगों में सामिल किया गया । अयंगार ने जयप्रकाश नारायण, येहुदी मेनुहिन, जिद्दू कृष्णमूर्ति जेसे लोगो को भी योग सिखाये ।

yoga-legend-bks-iyengar-passes-away

क्या है अयंगार योग  –  अयंगार योग हठयोग का एक प्रकार है, जिसका नाम   B.K.S Lyengar  के नाम पर परा । हठ योग योग की एक शाखा है, जिसका जन्मदाता हिन्दू परम्परा में भगवान शिव को माना जाता है । पौराणिक कथा के अनुसार, एक द्वीप पर जहाँ कोई नहीं था भगवान शिव पार्वती को हठ योग का ज्ञान दे रहे थे । लेकिन एक मछली पुरे प्रवचन को सुन रहा था , सुनने के बाद वह सिद्ध हो गया और मत्स्येंद्र नाथ के रूप में जाना जाने लगा । गोरखनाथ बाद में मत्स्येंद्र नाथ का शिष्य बना और वह हठ योग के ज्ञान का प्रचार किया ।

आधुनिक ऋषि के रूप में विख्यात B.K.S Lengar  20 अगस्त 2014   को इस संसार को विदा कह परमात्मा में विलीन हो गए !

Previous मकड़ी से मिली प्रेरणा....
Next किया साहस खुली तक़दीर

No Comment

Leave a reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *