Posts in tag

जीवनी


image of satyajit-ray

सत्यजित रे की चर्चा के बगैर बांग्ला ही नहीं, भारतीय सिनेमा का भी इतिहास लिखा जाना मुमकिन नहीं। भारत के इस महानतम फिल्मकार ने भारतीय सिनेमा की नई परिभाषा गढ़ी और उसमें संवेदनाओं के कई मीलस्तम्भ खड़े किए। वे सिनेमा के परदे पर परंपरा और आधुनिकता के बीच की खाली जगह में संगीत की सृष्टि …

Image Of Maulaana Mazaharul Haq

देश के महान स्वतंत्रता सेनानी, प्रखर शिक्षाविद, लेखक और अग्रणी समाज सेवक मौलाना मज़हरुल हक़ भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के ऐसे योद्धाओं में रहे हैं जिन्हें उनके स्मरणीय योगदान के बावज़ूद इतिहास ने वह यश नहीं दिया जिसके वे हकदार थे ।

image of vikram sarabhai

विक्रम साराभाई ( 12 अगस्त 1919 – 30 दिसम्बर 1971 ) देश के प्रमुख वैज्ञानिकों में से थे. उनका जन्म अहमदाबाद गुजरात में अम्बालाल साराभाई और सरला देवी के परिवार में हुआ था. उन्होंने प्राकृतिक विज्ञान में शिक्षा ग्रहण किया. भारत को अंतरिक्ष अनुसंधान के क्षेत्र में नई ऊँचाइयों पर पहुँचाने और अंतर्राष्ट्रीय मानचित्र पर …

image of kishore kumar

अपने सार्वजनिक जीवन में बेहद चंचल, खिलंदड़े, शरारती और निजी जीवन में बहुत उदास, खंडित, तन्हा किशोर कुमार रूपहले परदे के सबसे रहस्यमय और सर्वाधिक विवादास्पद व्यक्तित्वों में एक रहे हैं जिनकी एक-एक अदा, जिनकी एक-एक हरकत उनके जीवन-काल में ही किंवदंती बन गईं।

image of Bhikhari-Thakur

भोजपुरी माटी और अस्मिता के प्रतीक स्व. भिखारी ठाकुर भोजपुरी के शेक्सपियर कहे जाते हैं। अपनी जमीन, उसकी सांस्कृतिक और सामाजिक

madhubala

जिनके ज़िक्र के बगैर हिंदी सिनेमा का इतिहास नहीं लिखा जा सकेगा। प्रेम की शाश्वत प्यास की प्रतीक मरहूम मधुबाला को उनके यौमे पैदाईश (14 फरवरी) पर उनके व्यक्तिगत जीवन पर केंद्रित आलेख । लेखक : पूर्व आई० पी० एस० पदाधिकारी, कवि : ध्रुव गुप्त 

image of Ramchandra-Narayanji-Dwivedi

सैन्य-वीरों के त्याग और तप को संजोने वाले गीतों के रचनाकार स्व कवि प्रदीप उर्फ़ रामचन्द्र नारायणजी द्विवेदी जी की जयंती पर प्रस्तुत है यह आलेख । लेखक : पूर्व आईपीएस अधिकारी एवं कवि ध्रुव गुप्त 

steve-jobs-hindi-quotes

स्टीव जॉब्स दुनियां के सबसे महत्वपूर्ण कम्पनी एपल के सह-संस्थापक थे, जिनका जन्म 24 फरवरी 1955 को हुआ था. 

Dr radhakrishnan

बहुमुखी प्रतिभा के धनी डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन महान दार्शनिक, तत्ववेत्ता, धर्मशास्त्री , शिक्षाशास्त्री, एवं कुशल राजनीतिज्ञ थे । इन्होंने भारत के राष्ट्रपति जैसे पद को सुसोभित किया । 1954 में इन्हें भारत के सबसे बड़े नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया।

image of chandra shakher aazad

“दुश्मन की गोलियों का हम सामना करेंगे आजाद हैं…आजाद रहेंगे” महान क्रांतिकारी, निर्भीक, निडर, दृढ़निश्चयी, सम्राज्यवाद के घोर विरोधी, महान