लोकमान्य बाल गंगाधर तिलक


Bal Gangadhar Tilak Quotes In Hindi

लोकमान्य के नाम से प्रसिद्ध, भारतीय स्वाधीनता संग्राम के सैनानी, समाज सुधारक बाल गंगाधर तिलक का जन्म : 23 जुलाई 1856,  महाराष्ट्र के रत्नागिरी जिंले के चिल्खी गाँव में हुआ था. महात्मा तिलक ब्रिटिश हुकूमत से. सम्पूर्ण स्वराज की मांग करने वाले पहले भारतीय नेता थे. जिनका कथन था “स्वराज्य मेरा जन्म सिद्ध अधिकार है और में इसे लेकर रहूंगा” 1 अगस्त 1920 ईo को महाराष्ट्र में हिन्दुराष्ट्रवाद के पितामह लोकमान्य बालगंगाधर तिलक का अवसान हो गया. मरणोपरांत श्रधांजलि देते हुए गांधीजी ने उन्हें आधुनिक भारत का निर्माता. एवं जवाहरलाल नेहरू ने भारतीय क्रांति का जनक बताया.


Quote : अंधकार में जाए बिना प्रकाश प्राप्त नहीं होता.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : यदि भगवान छुआ छूत को मानता है तो में उसे भगवान नहीं कहूंगा.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : भारत का तब तक खून बहाया जा रहा है जब तक की बस कंकाल ना शेष रह जाए.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : गर्म हवा के झोंकों में जाये बिना, बिना कष्ट उठाए बिना पैरों में छाले परे स्वतंत्रता नहीं मिल सकती.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : ये सच है कि बारिश की कमी के कारण अकाल पड़ता है लेकिन ये भी सच है कि भारत के लोगों में इस बुराई से लड़ने की शक्ति नहीं है.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : आलसी व्यक्तियों के लिए भगवान अवतार नहीं लेता. वह मेहनती व्यक्तियों के लिए ही अवतरित होता है, इसीलिए कार्य करना आरम्भ करें.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : अगर आप नहीं दौड़ सकते, तो न दौड़े, लेकिन जो दौड़ सकते हैं, उनकी टाँग क्यों खीचते हैं ?

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : आपका लक्ष्य किसी जादू से पूरा नहीं होगा, बल्कि आपको ही अपना लक्ष्य प्राप्त करना पड़ेगा. कमजोर न बने शक्तिशाली बने , और यह विश्वास रखें कि भगवान हमेशा आपके साथ है.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : प्रगति स्वतंत्रता में निहित है. बिना स्वशासन के न औद्योगिक विकास संभव है , न ही राष्ट्र के लिए शैक्षिक योजनाओं की कोई उपयोगिता है. देश की स्वतंत्रता के लिए प्रयत्न करना सामाजिक सुधारों से अधिक महत्वपूर्ण है.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : प्रातः काल में उदय होने के लिए ही सूरज सन्ध्या काल में अंधकार में डूब जाता है और अंधकार में जाये बिना प्रकाश प्राप्त नही हो सकता.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : हो सकता है ये भगवान की मर्जी हो कि मैं जिस वजह का प्रतिनिधित्व करता हूँ उसे मेरे आजाद रहने से ज्यादा मेरे पीड़ा में होने से अधिक लाभ मिले.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : मराठी में एक कहावत है – घोड़ा अड़ा क्यों ?  पान सड़ा क्यों ? और रोटी जली क्यों ? इन सबका एक ही उत्तर है. पलटा न था.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : यदि हम किसी भी देश के इतिहास को अतीत में जाएं, तो हम अंत में मिथकों और परम्पराओं के काल में पहुंच जाते हैं जो आखिरकार अभेद्य अन्धकार में खो जाता है.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

Quote : भूविज्ञानी पृथ्वी का इतिहास वहां से उठाते हैं जहाँ से पुरातत्वविद् इसे छोड़ देते हैं, और उसे और भी पुरातनता में ले जाते हैं.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 

नारा : “स्वराज्य मेरा जन्म सिद्ध अधिकार है और में इसे लेकर रहूंगा”.

– Bal Gangadhar Tilak / बाल गंगाधर तिलक 
Previous इससे अच्छा तो गुलाम ही था..
Next एक चुटकी ज़हर रोजाना - लघुकथा

No Comment

Leave a reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *