शिक्षित बनों, संगठित रहो, संघर्ष करो


image of BR Ambedkar

महान विधिवेता, समाज सुधारक एवं भारतीय संविधान के निर्माता बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर के संछिप्त जीवन परिचय एवं इनके प्रेरणात्मक विचारों का संग्रह.

शिक्षित बनों ! संगठित रहो ! संघर्ष करो !  –  “बाबा  साहब”  डॉ. भीमराव अम्बेडकर. ( 14 अप्रेल 1891 – 6 दिसम्बर 1956 )

बाबा साहब का सम्पूर्ण जीवन बड़ा ही संघर्षों से भरा परा है, जो हमारे लिए एक आदर्श हैं. इनका जन्म 14 अप्रेल 1891 को मध्यप्रदेश में हुआ था. वह जिस जाति में जन्म लिए थे, उस समय वह बहूत ही हेय और नीच समझी जाती थी. जिसके कारण डॉ. आंबेडकर को बचपन में बहूत ही सामाजिक भेदभाव की यातनाएं सहनी पड़ी. बचपन में ही इनकी माँ का स्वर्गवास हो गया. जिसके पश्चात इनकी चाची ने  इनका पालन-पोषण किया. बाबा साहब बचपन से ही बहूत मेधावी छात्र  थे. जिस कारन बरोदा महराज ने उन्हें छात्रवृति भी प्रदान किया था. BA की पढाई खत्म कर उन्होंने ब्रिटेन और अमेरिका में आगे की पढाई की. और भारत आकर समाजिक भेदभावपूर्ण व्यवहार का सामना करते हुए, 20 वीं शताब्दी के जाने-माने चिन्तक, लेखक, वक्ता एवं स्वतंत्र भारत के प्रथम कानून मंत्री, संविधान मसौदा समिति के अध्यक्ष जैसे महत्वपूर्ण पद एवं सम्मान से प्रतिष्टित हुए. विधि विशेषज्ञ, डॉ. आंबेडकर ने संविधान के निर्माण में महत्वपूर्ण योगदान दिया था. उनको भरतीय संविधान का जनक भी माना जाता है.

बाबा साहब डॉ. भीमराव अम्बेडकर के प्रेरणात्मक विचार :

Ambedkar VBC


Quote :  हम सबसे पहले और अंत में भारतीय हैं.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : जीवन लंबा होने के बजाय महान होना चाहिए.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : एक सुरक्षित सेना सुरक्षित सीमा से बेहतर है.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : दिमाग का विकाश मानव मस्तिष्क का परम लक्ष्य होना चाहिए.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : उदासीनता लोगो को प्रभावित करने वाली सबसे ख़राब किस्म की बीमारी है.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : में ऐसे धर्म को मानता हूँ, जो स्वतंत्र, समानता और भाईचारा सिखाता है.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : यदि मुझे लगा की संविधान का दुरूपयोग किया जा रहा है, तो में इसे सबसे पहले जलाऊंगा.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : एक महान व्यक्ति एक प्रतिस्ठित व्यक्ति से अलग है, क्योंकि वह समाज का सेवक बनने के लिए तैयार रहता है.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : समानता एक कल्पना हो सकती है, लेकिन फिर भी इसे एक गवर्निग सिधान्त के रूप में स्वीकार करना होगा.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : एक महान व्यक्ति एक प्रतिष्टित व्यक्ति से अलग है, क्योंकि वह समाज का सेवक बनने के लिए तैयार रहता है.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : जब तक आप सामाजिक स्वतंत्रता नहीं हासिल कर लेते, कानून आपको भी स्वतंत्रता देता है वो आपके लिए बेमानी है.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : एक सफल क्रांति के लिए सिर्फ असंतोष का होना काफ़ी नहीं है. आवश्यकता है राजनितिक और सामाजिक अधिकारों के महत्व, जरूरत व न्याय का पूर्णतया गहराई से दोषरहित होना.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : मनुष्य नश्वर है, ऐसे विचार होते हैं. एक विचार को प्रचार-प्रसार की जरूरत है, जैसे एक पौधे में पानी की जरूरत होती है. अन्यथा दोनों मुरझा जायेंगे और मर जायेंगे.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : इतिहास बताता है कि जहाँ नैतिकता और अर्थशास्त्र में संघर्ष होता है, वहाँ जीत हमेशा अर्थशास्त्र की होती है. निहित स्वार्थो को स्वेछा से कभी नहीं छोड़ा गया है, जब तक की पर्याप्त बल लगा कर मजबूर न किया गया हो.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar

Quote : लोग और उनके धर्म सामाजिक नैतिकता के आधार पर सामाजिक मनको द्वारा परखे जाने चाहिए. अगर धर्म को लोगों के भले के लिए आवश्यक वस्तु मन लिया जायेगा तो और किसी मानक का मतलब नहीं होगा.

डॉ. भीमराव अम्बेडकर / Dr. BR Ambedkar
Previous हमारे गुरु कभी नहीं मरते - अरस्तु
Next पांडव का संदेश - रामधारी सिंह दिनकर

1 Comment

  1. nagendra
    April 10, 2016
    Reply

    A savant work for a savant person,
    jai ho baba ambedkar ki.??

Leave a reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *