जड़ी-बूटी वाली काकी के घरेलू नुस्खे


gharelu-nuskhe

हमारे दैनिक जीवन में कुछ छोटी-छोटी ऐसी उक्तियाँ काम आ जाती हैं, जिससे हम बड़े खर्च से बच सकते हैं आईए पढ़ते हैं जड़ी-बूटी वाली काकी के घरेलू नुस्खे.

घरेलू नुस्खे 1. सर्दी-जुकाम होनेपर अदरक के छोटे टुकड़ो को एक कप पानी में उबालकर उसमें एक चम्मच शक्कर मिलाकर पिने से जुकाम में आराम मिलता है.


घरेलू नुस्खे 2. गलेमें दर्द – काफी देरतक ऊँचे और तेज स्वर में बोलने एवं गाने से या फिर अधिक थकावट के कारण गला दुखने लगता है. इसके उपचार के लिए तुलसी का रस एक चम्मच और एक चम्मच शहद मिलाकर चाटे. अदरक के टुकड़ों को लोंग और नमक की डली के साथ सेवन करने से गले की आवाज खुल जाती है.


घरेलू नुस्खे 3. कब्जियत की शिकायत हो तो रात्रि में सोते समय आमले का चूर्ण शहद के साथ लें. शुबह उठकर ताम्बे के बर्तन में रखा पानी पीना चहिए. भुने हुए चने छिलके सहित एवं रेशेदार सब्जियां खाएं.


घरेलू नुस्खे 4. प्रतिदिन भोजन के बाद एक लोंग मुख में रख कर चूसने से मुह से बदबू नहीं आती है.


घरेलू नुस्खे 5. छोटे बच्चों के पेट में दर्द होने पर पानी में हिंग पीसकर नाभि पर लगाएं.


घरेलू नुस्खे 6. मुख में छाले हो तो काली मिर्च और किसमिस मिलाकर धीरे-धीरे दिन में चार से पांच बार चबाएं. जीरा और बड़ी इलाइची बराबर मात्रा में ले कर पिसे और दिन में दो तिन बार एक चम्मच लें, मुहँ के छाले दूर हो जायेंगे. बेल का गुदा निकाल कर पानी में उबाल कर थोडा ठंढा होने पर कुल्ला करें. मुख के छाले दूर हो जाते हैं.


घरेलू नुस्खे 7. यदि बच्चे के पैर में कांटा चुभ गया हो और नहीं निकल रहा हो तो गुड़ में अजवाइन मिलाकर उस स्थान पर लगा दें, कांटा अपने आप बाहर निकल जाएगा.


घरेलू नुस्खे 8. रात को सोते समय सफगोल की भूसी फांक कर गुण-गुना दूध पिने से प्रत: खुलकर सौच होगा.


घरेलू नुस्खे 9. पेट में मरोर होकर दस्त आने पर समान मात्रा में लाल मिर्च कपूर और हिंग की गोली बना कर खाएं, तुरंत लाभ होगा.

Previous परम्पराओं के नाम पर ज़ारी है अधार्मिक और अवैज्ञानिक कार्य
Next कुछ यात्रायें ऐसी होती हैं, दिल करता है कभी ख़त्म न हो

No Comment

Leave a reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *