गले में खराश हो तो आजमाइए ये नुस्ख़े


sore-throat vbc

गले में खराश या दर्द आम बात है ।  ठंढ या बदलते मौसम में यह हो सकता है । आमतौर पर गले का संक्रमण वायरस या बैक्टीरिया के कारण होता है । ऐसे में तुरंत डॉ के पास जाने से बेहतर होगा कुछ आसान नुस्ख़े अपनाएं । 

नमक के पानी से करें गार्गिल

गुनगुने पानी  में एक चम्मच नमक डाल कर गर्गिल करने से गले में दर्द और सुजन से राहत मिलती है । डॉ भी अक्सर इस समस्या में यही सलाह देते हैं ।


पेय प्रदार्थों का प्रयोग करें 

इस समस्या के दौरान यह ध्यान रखना बहूत आवश्यक है की शरीर में पानी की कमी न हो । पानी की पर्याप्त मात्र होने से म्यूक्स मेम्ब्रेन में नमी बनी रहती है, जो इसे बैक्टेरिया से लड़ने में सक्षम बनाती है ।


मसाला युक्त चाय पियें 

चाय बनाने के लिए नार्मल पानी के बदले लौंग, तुलसी, अदरक और काली मिर्च को पानी में डालकर उबाल लें फिर चायपत्ति डाल कर चाय बनाएं और गरमा-गर्म पियें । ये बहूत ही लाभदायक उपाय है जिससे तुरंत आराम मिलता है ।


अदरक का इस्तेमाल करें

गले के खराश का उपचार के लिए एक कप पानी में अदरक डाल कर उबालें । इसके बाद इसे हल्का गुनगुना करके इसमें शहद मिलाएं । और दिन में दो से तीन बार पीएं । गले के खराश से आराम मिलेगा ।


लहसुन का प्रयोग फायदेमंद 

लहसुन में मौजूद एलीसिन गले में खराश पैदा करने वाले जीवाणुओं को मार देता है । साथ ही गले के दर्द और सुजन को कम करता है । गालों के दोनों तरफ लहसुन की एक-एक कली रखकर धीरे-धीरे चूसते रहें । जैसे-जैसे लहसुन का रस गले में जाएगा वैसे-वैसे आराम मिलता रहेगा ।


फलों का जूस पीना चाहिए 

फलों का जूस या सूप का सेवन भी इस समस्या में फायदेमंद है । इसके साथ ही हर्बल टी का सेवन भी कारगर हो सकता है । इसमें मौजूद एंटीओक्सिडेंट दवा की तरह काम करते हैं और गले को जल्द राहत पहुंचाते हैं ।


लौंग का इस्तेमाल करें 

लौंग एंटी-बैक्टीरियल गुणों से भरा होता है । जो सुजन और इन्फेक्शन को दूर करता है । लौंग को मुंह में रखकर धीरे-धीरे चबाने से आराम मिलता है । इसका उपयोग आदि काल से होता आया है ऐसा बड़े-बुजुर्ग बताते हैं  ।


कफ़ सिरफ़ से उपचार 

गले में दर्द या खरास होने पर भी कफ़-सिरफ काफी असरकार होते हैं । कफ़-सिरफ के सेवन से आराम मिलने के साथ-साथ नींद भी आने लगती है ।

Previous कुछ प्रेरक प्रसंग जो करेंगे आपका मार्गदर्शन
Next एक चिड़िया, जो बनी पूरी ज़िन्दगी की प्रेरणा

No Comment

Leave a reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *